Ad

आईएएस कैसे बने , आईएएस बनाने के किये क्या पढे
आईएएस कैसे बने , आईएएस बनाने के किये क्या पढे यह प्रश्न हर एक छात्र के मन में होता है यह भारत की सबसे बड़े परीक्षाओं में एक परीक्षा के रूप में मान्यता दी जाती है ,  भारत में लगभग हर किसी छात्र का  सपना जरूर होता है आईएएस बनना , क्योंकि इसकी शक्तियां अनेकों दिशाओं में होती हैं माना जाता है कि एक  आईएएस अधिकारी का परीक्षा भारत में सबसे बड़े परीक्षाओं के रूप में मानी जाती है।

 आईएएस कैसे बने
        आईएएस बनने की योग्यता की बात करें तो भारत में केवल यदि कोई व्यक्ति किसी भी क्षेत्र से ग्रेजुएशन पूरी कर लेता है , तो वह आईएएस बनने की योग्यता रखता है।

 कुछ बच्चों में यह गलतफहमियां भी होती है कि आईएएस बनने के लिए केवल b.a ही होना चाहिए परंतु यह एक मिथ्या है आईएएस बनने के लिए हम किसी भी क्षेत्र से ग्रेजुएशन करपी आईएएस बन सकते हैं वह चाहे मेडिकल का क्षेत्र ही हो या इंजीनियरिंग का , क्योंकि सरकार को एक ऐसे अधिकारी की तलाश होती है जिसके पास बहुत अधिक ज्ञान तो ना हो परंतु वह किसी भी जीत से अनजान भी ना हो जिससे वह अपने जिले में प्रशासन अच्छी तरीके से कर सकें।
 आईएएस बनने के लिए हमें आईएएस की परीक्षा देनी पड़ती है जिसकी परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग के द्वारा कराई जाती है।
आईएएस कैसे बने , आईएएस के किये क्या पढे
 आईएएस की परीक्षा  के क्रम
      मुख्य रूप से माने तो आईएएस की परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) के द्वारा कराई जाती है जिसमें केवल आईएएस का पद ना होकर कुल 24 पद होते हैं।
 जिसे हम यूपीएससी कहते हैं जिसमें आईएएस का पद लगभग 100 रन के अंदर आता है।
 हर साल लगभग छह से सात लाख बच्चे इस परीक्षा में अपनी रुचि दिखाते हैं परंतु आईएएस या  यूपीएससी द्वारा कराई गई एग्जाम मैं केवल 700 से 900 बच्चे ही पास होते हैं।
  यह छात्र यूपीएससी के द्वारा कराए गए एग्जाम के सभी कड़ी को पास करते हैं।
यदि इस एग्जाम केकड़ी की बात करें तो इसमें तीन एग्जाम देना होता है जिसे हम इस रूप में जानते हैं।

  1.  प्रारंभिक  परीक्षा Prelims exam 
  2. मेंस  परीक्षा mains exam
  3.  interview
 प्रारंभिक परीक्षा Prelims exam
 यदि हम प्रारंभिक एग्जाम की बात करें तो यह कोई भी वह बच्चा एग्जाम दे सकता है  जिसकी जिसकी उम्र लगभग 21 साल से ऊपर हो तथा वह अपना ग्रेजुएशन पूर्ण कर चुका हो।
 IAS prelims में दो एग्जाम होते हैं।

  1.  सामान्य अध्ययन परीक्षा
  2.  सीसैट परीक्षा
 आईएएस बनने के लिए क्या पढ़े
आईएएस के यदि हम सामान्य अध्ययन परीक्षा की बात करें तो  यूपीएससी (UPSC) के द्वारा दिया गया सिलेबस  में  इस  विषय को  वर्णित किया गया है ।

  1. राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व की सामयिक घटनाएँ (Current events of national and international importance)
  2.  भारत का इतिहास और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन (History of India and Indian National Movement)।
  3. भारत एवं विश्व का भूगोल : भारत एवं विश्व का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल (Indian and World Geography - Physical, Social, Economic Geography of India and the World)।
  4. भारतीय राज्यतंत्र और शासन- संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, लोकनीति, अधिकारों संबंधी मुद्दे इत्यादि (Indian Polity and Governance - Constitution, Political System, Panchayati Raj, Public Policy, Rights Issues etc)।
  5. आर्थिक और सामाजिक विकास- सतत् विकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र में की गई पहल आदि (Economic and Social Development, Sustainable Development-Poverty, Inclusion, Demographics, Social Sector initiatives etc)।
  6. पर्यावरणीय पारिस्थितिकी, जैव-विविधता और जलवायु परिवर्तन संबंधी सामान्य मुद्दे, जिनके लिये विषयगत विशेषज्ञता आवश्यक नहीं है (General issues on Environmental Ecologh2y, Bio-diversity and Climate Change - that do not require subject specialization)।
  7. सामान्य विज्ञान (General Science)।


का यह परीक्षा पैटर्न प्रणाली है, तथा इसके दूसरे एग्जाम सीसैट के अध्ययन के लिए सिलेबस कुछ इस प्रकार से है।
  1. बोधगम्यता (Comprehension)।
  2. संचार कौशल सहित अंतर-वैयक्तिक कौशल (Interpersonal skills including communication skills)।
  3. तार्किक कौशल एवं विश्लेषणात्मक क्षमता (Logical reasoning and analytical ability)। 
  4. निर्णय लेना और समस्या समाधान(Decision-making and problem-solving)। 
  5. सामान्य मानसिक योग्यता (General mental ability)।
  6. आधारभूत संख्ययन (संख्याएँ और उनके संबंध, विस्तार-क्रम आदि) (दसवीं कक्षा का स्तर); आँकड़ों का निर्वचन (चार्ट, ग्राफ, तालिका, आँकड़ों की पर्याप्तता आदि- दसवीं कक्षा का स्तर) [Basic numeracy (numbers and their relations, orders of magnitude, etc.) (Class X level), Data interpretation (charts, graphs, tables, data sufficiency etc. (Class X level)]

Note - प्रारंभिक परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकृति (Objective type) के प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसके अंतर्गत प्रत्येक प्रश्न के लिये दिये गए चार संभावित विकल्पों (a, b, c और d) में से एक सही विकल्प का चयन करना होता है। 
इस प्रकार से इस एग्जाम के पहले चरण को पार किया जाता है इसके बाद इस परीक्षा में इसकी द्वितीय चरण अर्थात मेन एग्जाम में प्रवेश किया जाता है जिसमें कुल 9 परीक्षाएं होती हैं तथा एक इंटरव्यू करके इस  परीक्षा को पास किया जाता है।


अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें click here

Post a Comment

Previous Post Next Post