Ad

ब्रेक्जिट (BREXET)
ब्रेक्जिट (BREXET) 
BREXET
  • 31 जनवरी 2020 को रात 12:00 बजे ब्रिटेन यूरोपीय यूनियन से बाहर हुआ। ब्रिटेन का 45 सालों का यूरोपीय संघ से रिश्ता रहा।
  • UK में स्कॉटलैंड ,वेल्स, इंग्लैंड तथा उत्तरी आयरलैंड शामिल है।
  •  ब्रिटेन को यूरोपीय संघ से बाहर निकलने के कारण स्कॉटलैंड में विरोध करते हुए वहां की जनता द्वारा कैंडल मार्च निकाला गया।
  • अब वर्तमान समय में यूरोपीय यूनियन में कुल 27 देश हैं जिनमें मुक्त व्यापार और मुक्त आवागमन है।

  • www.wifistudy.xyz
    ब्रेक्जिट (BREXET
  • ब्रेक्जिट मुख्यत: दो शब्दों Britain और Exit से मिलकर बना है, जिसका मतलब है ब्रिटेन का यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलना। साल 2016 में इसके लिये ब्रिटेन में जनमत संग्रह कराया गया था। इस जनमत संग्रह में जनता ने ब्रिटेन की पहचान, आज़ादी और संस्कृति को बनाए रखने के मक़सद से यूरोपियन यूनियन से बाहर निकलने का फैसला लिया।

  • यूरोपीय संघ में वर्तमान में कुल सदस्यों की संख्या 27 है। जिसका मुख्यालय ब्रुसेल्स है।
    www.wifistudy.xyz
    ब्रेक्जिट (BREXET
  • वर्तमान में ब्रिटेन यूरोपीय संघ से बाहर होने के बाद यह एक संप्रभु राष्ट्र के रूप में कार्य करेगा।
  • ब्रिटेन की वर्तमान प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन थे जिन यूरोप से बाहर निकलने में सबसे बड़ी भूमिका रही तथा वर्तमान समय में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ सेकंड है।
  • ब्रेक्जिट से बाहर निकलने की अनेक कारण हैं जो इस प्रकार हैं।
  1. ब्रिटेन को कानून बनाने में समस्या
  2. प्रवासियों की वृद्धि का कारण
  3. सदस्यता शुल्क के कारण ( ब्रिटेन को यूरोपीय संघ की सदस्यता के रूप में लगभग 13 बिलियन पाउंड यूरोपीय संघ को देना पड़ता था)
  4. प्रशासनिक भूमिका (लालफीताशाही का मुख्य भूमिका)
  5. ब्रिटेन अलग होने से अब अपने आर्थिक हितों के बारे में सोए सो सकता है।
www.wifistudy.xyz
ब्रेक्जिट (BREXET
  • 2014 में यूरोपीय मंदी से ही ब्रिटेन बाहर निकलने का प्रयास कर रहा था।
इंग्लैंड में प्रधानमंत्री डेविड कैमरून तेजू नहीं चाहती थी कि ब्रिटेन में को बाहर निकाला जाए परंतु ब्रिटेन में जनमत संग्रह के आधार पर ब्रिगेड के लिए 52 % मत मिला। इसी कारण ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ने 13 जुलाई 2016 को इस्तीफा दे दिया।

ब्रेक्जिट ड्राफ्ट डील

जैसे-जैसे ब्रेक्जिट की समय-सीमा नज़दीक आती जा रही है वैसे वैसे ब्रिटेन के नेताओं पर मसौदे को लेकर दबाव बढ़ता जा रहा है। ब्रेक्जिट कोई क्षणिक और तत्काल बदलाव नहीं होगा बल्कि इसमें कई प्रक्रियाओं से गुजरना होगा। इसके लिए संक्रमण काल लागू किया गया है जो कि 31 दिसंबर 2020 तक होगा। यूरोपीय यूनियन से ब्रिटेन के अलग होने के समझौते के लिये तैयार मसौदे को ब्रेक्जिट ड्राफ्ट डील कहा जा रहा है।

 अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें click here

Post a Comment

Previous Post Next Post